IIT टॉपर का सक्सेस राज, टेंशन में अपनाता था ये तरकीब

आजकल ज्यादातर अभिभावक अपने बच्चों के टीवी पर कार्टून देखने से परेशान हैं. प्रतिष्ठित IIT-JEE परीक्षा टॉप करने वाले चंडीगढ़ के छात्र सर्वेश मेहतानी की सफलता कुछ और ही कहानी बयां करती है. टीवी पर कार्टून देखना, गाने सुनना और बैडमिंटन खेलना मेहतानी के लिए तनाव से मुक्ति पाने के मंत्र है.

IIT-JEE के आज घोषित हुए नतीजों में मेहतानी ने पहला स्थान हासिल किया है. उन्होंने कहा कि अत्यंत प्रतिस्पर्धी इस परीक्षा में शीर्ष 10 में शामिल होना हमेशा उनका लक्ष्य था. मेहतानी के पिता आयकर विभाग में अधिकारी हैं.

यह पूछने पर कि क्या कभी उन्होंने इस परीक्षा का टॉपर बनने के बारे में सोचा था, इस पर मेहतानी ने कहा कि ‘मैं हमेशा शीर्ष 10 में शामिल होना चाहता था.’ इसके बाद उससे तनाव मुक्ति पाने के उपाय पुछे गए. इस पर मेहतानी ने कहा कि ‘मैंने टीवी पर कार्टून देखता और गाने सुना करता था. उपन्यास पढ़ने और बैडमिंटन खेलने से भी मुझे शांत और एकाग्रचित बने रहने में मदद मिलती है.’

मेहतानी की बड़ी बहन भी इंजीनियरिंग कर रही है. मेहतानी पंचकुला के एक निजी स्कूल का छात्र हैं. उसी स्कूल का एक और छात्र आशीष वाईकर ने अखिल भारतीय स्तर पर सातवीं रैंक हासिल की है. आशीष सेना अधिकारी के बेटे हैं.
मेहतानी ने 12वीं कक्षा में 95.4 फीसदी अंक हासिल किए हैं. उन्होंने कहा कि ‘मैंने फिजिक्स और मैथ्स में 95 फीसदी अंक और कैमिस्ट्री में 97 फीसदी अंक हासिल किए हैं. मेरा पसंदीदा विषय मैथ्स है.’ मेहतानी और वाईकर दोनों आईआईटी बंबई में कम्प्यूटर साइंस पढ़ना चाहते हैं.

सफलता के मंत्र के बारे में पूछे जाने पर मेहतानी ने कहा ‘लक्ष्य को लेकर कड़ी मेहनत, सुनियोजित तरीके से पढ़ाई करना और एकाग्रचित रहना. मेरे जूनियर्स के लिए मेरा संदेश है कि शांत, सुनियोजित रहे और कड़ी मेहनत करें.’

Leave a Comment