टी-20 के इतिहास में एक रन से फाइनल मुकाबला जीतने वाली मुंबई तीसरी टीम बनी

मुंबई इंडियंस ने तीसरी बार आईपीएल खिताब पर कब्जा किया. इसके साथ ही दिलचस्प फैक्ट उसके नाम जुड़ गया. टी-20 के इतिहास में एक रन से फाइनल मुकाबला जीतनेवाली वह तीसरी टीम बन गई. अद्भुत संयोग यह रहा कि उनमें से दो फाइनल तो हैदराबाद के राजीव गांधी इंटरनेशनल स्टेडियम में खेले गए, जहां फाइनल में एक रन से फैसला हुआ. आइए जानते हैं ऐसे मौके कब-कब आए, जब खिताबी मैच का फैसला एक रन से हुआ.


स्टैनबिक बैंक 20 सीरीज फाइनल-2010
21 नवंबर 2010 को स्टैनबिक बैंक 20 सीरीज का फाइनल खेला गया (आईपीएल 2017 का भी फाइनल 21 तारीख को ही खेला गया). दरअसल, हरारे में खेले गए फाइनल में मोशोनालैंड ईगल्स ने मिड वेस्ट राइनो टीम को 168 रनों का टारगेट दिया. अंतिम ओवर में राइनो की टीम को जीत के लिए 10 रन बनाने थे, लेकिन वह 8 रन ही बना पाई और 20 ओवर में उसके 166/6 रन ही बन पाई. ईगल्स ने 1 रन से वह फाइनल जीत लिया.

मैच जीतने के बाद जश्न मनाते रेगिस चकाब्वा, प्रिंस मसवाउरे, एंड्रूय हॉल और ग्रांट फ्लावर.

सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी का फाइनल-2011
दूसरा उदाहरण 2011 का है, जब 16 मार्च को सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी का फाइनल बंगाल और मध्य प्रदेश के बीच हैदराबाद के राजीव गांधी इंटरनेशनल स्टेडियम में खेला गया. (आईपीएल-2017 का भी फाइनल इसी स्टेडियम में खेला गया) बंगाल ने मध्य प्रदेश की टीम को 143 रनों का टारगेट दिया. लेकिन आखिरी ओवर में मध्य प्रदेश के दो खिलाड़ी रन आउट हुए. अंतिम गेंद पर जीत के लिए उसे 3 रन बनाने थे, लेकिन रन आउट ने उसका का खेल बिगाड़ा. 20 ओवर में मध्य प्रदेश के 141/8 रन ही बन पाए और बंगाल ने 1 रन से ट्रॉफी जीत ली.

आईपीएल का फाइनल 2017
आईपीएल-2017 के फाइनल में मुंबई इंडियंस ने राइजिंग पुणे सुपरजायंट को 130 रनों का टारगेट दिया. आखिरी ओवर में उसे 11 रन बनाने थे. लेकिन 9 रन ही बने और उसके तीन विकेट गिर गए. अंतिम गेंद पर जीत के लिए 3 रन चाहिए थे, लेकिन रन आउट से विकेट गिरा. पुणे की टीम 20 ओवर में 128/6 रन ही बना पाई. मुंबई ने एक रन से यह फाइनल जीत लिया

Leave a Comment