बिना बिजली के घर व ऑफिस को ठंडा रखने की आसान और जबरदस्त तकनीक,जाने कैसे ?

बिना बिजली के घर व ऑफिस को ठंडा रखने की आसान और जबरदस्त तरीका आ गया है जिसका अमरीका में लगभग 6 प्रतिशत बिजली का उपयोग घर व ऑफिस को ठंडा रखने के लिए किया जाता है।

इन्हें बिना बिजली के ठंडा रखने के लिए कैलीफोर्निया की स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी 2014 में सात लेयरों से एक मैटीरियल बनाया था लेकिन यह काफी महंगा था जिस वजह से इसे बल्क में खरीदा नहीं गया।

मैटीरियल से गर्मी रोकने वाली फिल्म को और बेहतर व सस्ती बनाने के लिए कैलीफोर्निया यूनिवर्सिटी के दो व्यक्तियों ने ठंडक को बरकरार रखने के लिए एक फिल्म बनाई है

जो बिना किसी ए.सी व पावर के बिल्डिंग को ठंडा करने में मदद करेगी। इसे खरीदने के लिए यूजर को मोटी रकम भी खर्च नहीं करनी होगी। इसे आने वाले समय में 50 सैंट पर स्वेअर मीटर में उपलब्ध किया जाएगा।

इंफ्रारैड रेडिएशंस को करेगी ब्लाक

यह फिल्म रेडिएटिव कूलिंग तकनीक पर काम करेगी जो धरती के एटमॉस्फियर से गर्म इंफ्रारैड रेडिएशंस को कम कर अनवांटेड हीट को करैक्ट यानी सही वेव लैंथ पर कर देती है।

डा. यांग और डा.यिन ने इस फिल्म को पॉलीमिथाइलपेंटेन से बनाया है जो आमतौर पर ट्रांसपेरैंट प्लास्टिक के रुप में उपलब्ध की जाती है। इसके अलावा इसमें छोटे कांच के मोती मिक्स किए गए हैं और इसकी एक साइड को सिल्वर से कोट किया गया है।

37 से 20 डिग्री सैल्सियस करेगी तापमान

इसकी सिल्वर साइड को अंदर की तरफ करते हुए छत के ऊपर रखा गया। इस प्रक्रिया से सूर्य की रोशनी प्लास्टिक मैटीरियल से रिफलैक्ट की गई जिससे बिल्डिंग में गर्मी कम हो गई।

इस फिल्म की निर्माता टीम ने कहा है कि एक अमरीकी घर के ऊपर अगर 20 स्क्वेयर मीटर की फिल्म रखी जाए तो यह घर के अंदर के टैम्परेचर को 20 डिग्री सैल्सियस कर देगी है जबकि उसी समय बाहर का तापमान 37 डिग्री सैल्सियस होगा।

टीम ने कहा है कि रोजमर्रा की जिंदगी में इस तकनीक का रैगुलर इस्तेमाल व इमारत के तापमान को स्थिर रखने के लिए वाटर पाइप्स की जरूरत हो सकती है। टीम ने कहा है कि इन वाटर पाइप्स को चलाने के लिए पावर की जरूरत पड़ सकती है लेकिन यह कम कीमत में काफी सुविधाजन तरीके से तापमान को कम करने में मदद करेगी।

हमारी पोस्ट पसंद आये तो लाइक और शेयर करना न भूले |

Leave a Comment